इमारत तैयार फिर भी भटक रहे नेत्रहीन छात्र

माननीय अंध विद्यालय को नए भवन में कब स्थानांतरित किया जायेगा।
सदर विधायक को सौपा ज्ञापन
ऋषी न्यूज संवाद उरई । 

नगर के मोहल्ला शांति नगर में संचालित अंध विद्यालय के नेत्रहीन दिव्यांग प्रधानाचार्य और नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों ने युवा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर के नेतृत्व में सदर विधायक गौरी शंकर वर्मा को एक ज्ञापन सौंपा । इसमें उन्होंने अपनी समस्याओं से सदर विधायक को अवगत कराते हुए विद्यालय और आवासीय व्यवस्था नए भवन में स्थानांतरित किये जाने की मांग की. 

आपको अवगत कराते चलें कि शांति नगर में शिव अखंड ज्योति समिति द्वारा संचालित अंध विद्यालय का भवन जर्जर स्थिति में है. इस भवन में नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों के लिए प्राथमिक विद्यालय तथा आवासीय सुविधा संचालित है. भवन की जर्जर स्थिति को देखते हुए इसी भवन के ठीक बगल में एक नए भवन का निर्माण समिति प्रबंधक द्वारा करवाया गया है. बताया जाता है कि इस नए भवन के निर्माण के लिए प्रबंधक द्वारा सांसद निधि एवं विधायक निधि से धन आवंटित कराया गया था. अब जबकि नया भवन बनकर तैयार हो चुका है तब प्रबंधक उसमें नेत्रहीन बच्चों को स्थान्तरित करने में आनाकानी कर रहा है. प्रधानाचार्य और बच्चों का कहना है कि प्रबंधक की मंशा उनको बाहर निकालने की है, जिससे वो नये सिरे से अपनी मनमानी कर सके. प्रबंधक पर इनके द्वारा ये भी आरोप लगाया गया कि वह अंध विद्यालय के नाम पर लोगों से आर्थिक मदद लेकर उसे हजम कर गया. 

नेत्रहीन दिव्यांग प्रधानाचार्य और नेत्रहीन बच्चों ने यह भी बताया कि यह पुराना भवन प्रबंधक द्वारा किसी अन्य व्यक्ति को बेच दिया गया है. वह व्यक्ति समय-समय पर अराजक तत्त्वों के साथ आकर डराता-धमकाता है. प्रधानाचार्य और बच्चों ने विधायक को बताया कि वे कई बार जिलाधिकारियों से मिलकर अपनी समस्या को बता चुके हैं किन्तु किसी भी रूप में उनको नए भवन में स्थानांतरित किये जाने की प्रक्रिया नहीं चलाई गई. विधायक गौरी शंकर वर्मा ने बहुत जल्दी ही नेत्रहीन बच्चों की समस्या का निस्तारण किये जाने का भरोसा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर, प्रधानाचार्य और बच्चों को दिया. इसके साथ ही आश्वसन दिया कि सभी पक्षों पर विचार करके उनके विद्यालय और आवास को नए भवन में स्थानांतरित करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इस अवसर पर डॉ. कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने भी दिव्यांग शक्ति की तरफ से एक ज्ञापन सदर विधायक को सौंपा। 

​27 मई को वैवाहिक बंधन में बंधेंगे 11 जोडे 

मंशापूर्ण हनुमान मंदिर विवाह समिति द्वारा आयोजित किया जा रहा सामूहिक विवाह 
11 निर्धन परिवार की कन्याओं के होंगे हाथ पीले 

रिपोर्ट : हेमन्त चौरसिया

ऋषी न्यूज संवाद उरई। श्रीमंशापूर्ण हनुमान जी मंदिर विवाह समिति द्वारा आगामी 27 मई को सेंगर पैराडाइज में सामूहिक विवाह का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें सर्वसमाज की 11 निर्धन कन्याओं के हाथ पीले कराए जाएंगे। इसके लिए तैयारियां जोर-शोर  से शुरू कर दी गई हैं। कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री समेत कई भाजपा नेता शिरकत कर नवविवाहित जोडों को आर्शीवाद देंगे। 
बुधवार को मंशापूर्ण हनुमान मंदिर में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कार्यक्रम के आयोजक अनिल सिंह सेंगर व अनूप सिंह सेंगर ने बताया कि 27 मई को 11 निर्धन परिवार की कन्याओं के हाँथ पीले होंगे। श्री मंशापूर्ण हनुमान जी मंदिर सेवा समिति ने निर्धन परिवार की बेटियों के विवाह करने का वीणा उठाया है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम की तैयारियां  अंतिम दौर में हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश सरकार के कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह शामिल होंगे। जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में महोबा सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल, जिले के तीनों विधायक रहेंगे। विवाह समारोह में आयोजन समिति द्वारा नवविवाहित जोडों को पुरूस्कार भी दिए जाएंगे। इस मौके पर दीनदयाल काका, डा0 वीके सिंह राठौर, तुलसीराम सोनी, नीलम कुमार सोनी, धीरज ओमरे, आनंद महाराज आदि मौजूद रहे। 

​सहाव गैंगरेप के तीन और दरिंदे गिरफ्तार 

आरोपियों के कब्जे से बरामद की गई घटना में प्रयुक्त लोडर
पीड़ित महिला का पर्स, जेवरात, कपडे व नकदी भी बरामद 

घटना के खुलासा में स्वाट टीम की रही महत्वपूर्ण भूमिका 
ऋषी न्यूज के लिए 

रिपोर्ट : हेमन्त चौरसिया
ऋषी न्यूज संवाद उरई। जालौन के चर्चित सहाव गैंगरेप व लूट के मामले में आखिरकार स्वाट टीम व कोतवाली पुलिस को सफलता हाथ लग ही गई। इस मामले में फरार चल रहे तीन और आरोपियों को स्वाट टीम ने पडेासी जनपद मध्य प्रदेश से गिरफ्तार  कर लिया। आरोपियो के कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई बुलेरो मैक्स गाडी, पीडित महिला का पर्स, जेवरात, कपडे व नकदी आदि बरामद की गई है। इन आरोपियों ने कई राज्यों व शहरों में भी बडी-बडी वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल की है। पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। 
गौरतलब है कि बीती चार मई को जयपुर से आ रहे दम्पत्ति को बुलेरो सवार बदमाशों ने अपने साथ बैठा लिया था और सहाव नाका के पास गाडी रोककर पति को बंधक बना लिया था और महिला को झाडियों में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया था। छह बदमाशों ने बारी-बारी से महिला को अपनी हवश का शिकार बनाया और फिर बाद में महिला से नकदी, जेवरात आदि लूट ले गए थे। इस दिल दहला देने वाली वारदात के बाद जिले का पुलिस महकमा हरकत में आ गया था। दस दिनों की कडी मशक्कत के बाद पुलिस ने इस मामले में 13 मई को तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफतार कर जेल भेज दिया था। बाकी तीन आरोपियों की पुलिस लगातार तलाश कर रही थी। यह फरार आरोपी पुलस से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदलने में लगे थे। पर स्वाट टीम व कोतवाली पुलिस की कठिन मेहनत के चलते फरार चल रहे आरेापी भूरा पुत्र जलालुददीन निवासी गोहद जिला भिंड, रफीक उर्फ बांगडू उपर्फ टैनी पुत्र मजीद उर्फ अजीज निवासी ततारपुर कानपुर देहात, अली मुहम्मद उर्फ मास्टर पुत्र माशूक अजी निवासी ग्राम सैनपुर औरेया को मध्य प्रदेश्ज्ञ के भिंड जनपद के चरथर तिराहे से गिरफतार कर लिया। इनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई बुलेरो मैक्स गाडी, पीडित महिला का पर्स, 4900 रुपए, जेवरात, कपडे आदि बरामद किए गए हैं। बुधवार को पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने पुलिस लाइन में इसका खुलासा किया। उन्होंने बताया कि गिरफतार किए गए यह तीनों आरोपी शातिर किस्म के अन्तर्राज्यीय बदमाश हैं। इन्होंने राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के साथ औरेया, कानपुर नगर, कानपुर देहात, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, इटावा, जालौन आदि जिलों में बडी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। गिरोह द्वारा की गई अन्य घटनाओं के बारे में अभी भी पूछताछ की जा रही है। बदमाशों को गिरफतार करने वाली टीम में स्वाट टीम प्रभारी अरुण कुमार तिवारी, जालौन कोतवाल महाराज सिंह तोमर, सर्विलांस प्रभारी ब्रजेश यादव, मनोज गुप्ता, सतेंद्र ंिसह, मनोज कुमार, रवि भदौरिया, नीतू कुमार, अमित कुमार, करनवीर सिंह, हरगोविंद, संजय आदि शामिल रहे। 

​माननीय की गाडी रोकने पर  दरोगा लाइन हाजिर!

 

कुछ न कुछ गड़बड़ कर ही देते दारोगा जी
ऋषी न्यूज संवाद उरई। 

उरई। सत्ता पक्ष के एक माननीय की गाडी रोकना दरोगा को भारी पड गया और उसे लाइन हाजिर कर दिया गया। सोमवार को जिले के पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने सिरसाकलार थाना में तैनात दरोगा धर्मेंद्र यादव को लाइन हाजिर कर दिया। इस कार्रवाई का खुले तौर पर कोई कारण नहीं बताया गया है। पर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त दरोगा ने एक दिन पूर्व ही भाजपा के एक माननीय की गाडी रोक ली थी। बस इसी बात से नाराज माननीय ने इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से कर दी। जिसका खामियाजा दरोगा को लाइन हाजिर होकर भुगतना पडा। बतातें चलें कि उक्त दरोगा कुठौंद थाने में तैनाती के दौरान भी विवादों में रहे हैं और इन्होंने मुफत में खाना न देने पर एक होटल संचालक की मारपीट कर दी थी। इतना ही नहीं होटल संचालक को बचाने आईं उसके परिवार की महिलाओं को भी नहीं बख्शा था। इसके बाद इन्हें कुठौंद थाने से हटा दिया गया था। 

खंती में गिरी तेज रफतार बाइक, एक की मौत, दो घायल

 
शादी समारोह से वापस घर जाते वक्त हुआ हादसा 
घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में कराया भर्ती 
हेमंत चौरसिया 
ऋषी न्यूज संवाद उरई। शादी समारेाह से वापस घर जाते वक्त रास्ते में बाइक अनियंत्रित होकर खंती में जा गिरी। इससे एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

रामपुरा थाना क्षेत्र के कस्बा उमरी निवासी रिंकू दोहरे 30 वर्ष पुत्र दयानन्द सोमवार की शाम को अपने परिवार के भतीजे की बारात में शामिल होने के लिए भदेख थाना कुठौंद गए थे। देर रात जयमाला कार्यक्रम संपन्न होने के बाद वह अपने भाई सुखवीर व साथी रविंद्र कुमार के साथ बाइक पर सवार होकर वापस घर आने लगे। जब उनकी बाइक बावली मोड पर पहुंची तो अचानक अनियंत्रित हो गई और खाई में जा गिरी। इससे इससे रिंकू की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि रविंद व सुखवीर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्तपाल में भर्ती कराया गया है। 

​नगर पालिका के कार्य में गुलामी के प्रतीकों का महिमामंडन 

शहर के समाजसेवी ने जताई आपत्ति, डीएम को सौंपा ज्ञापन 
नगर  पालिका द्वारा घंटाघर पर कराया जा रहा निर्माण आया विवादों में
निर्माण में गुलामी के प्रतीक चिन्हों का इस्तेमाल करने का आरोप 
मनोज शर्मा

ऋषी न्यूज मुख्य संवाद ।

उरई शहर के बीचोंबीच स्थित घंटाघर चौराहे पर नगर पालिका द्वारा कराया जा रहा निर्माण इन दिनों विवादों में आ गया है। शहर के एक समाजसेवी ने इस निर्माण में गुलामी के प्रतीक चिन्हों को बनाए जाने का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की है। इसके साथ ही शहर के बीचोंबीच जिस तरह से निर्माण की अनुमति दे दी गई है उस पर भी सवाल उठाया है और इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। 
शहर के राठ रोड निवासी समाजसेवी व भाजपा नेता आशीष सेठ ने जिलाधिकारी नरेंद्र शंकर पांडेय को शिकायती पत्र सौंपा। जिसमें उन्हेांने बताया कि बीते दो वर्षों से घंटाघर चौराहे  पर नगर पालिका द्वारा एक निमा्रण कराया जा रहा है। इसे सार्वजनिक सरकारी अतिक्रमण भी कहा जाए तो गलत न होगा। अपने विशाल स्वरूप व देशवासियों के अपमान, नफरत, तिरस्कार से सुसज्जित प्रतीकों का निर्माण यहां पर कराया गया है। इनमें सांता क्लॉज के रूपक रंगों से सजे व परिसर के उच्च स्तम्भ पर अंग्रेजी साम्राज्यवाद का प्रतीक बिटिश संसद का प्रतीके बिग बेन, एलिजाबेथ क्लॉक टावर की उपरी कृति मौजूद है। इसी प्रतिबिंब ने हम देशवासियों को लंबे समय तक गुलाम बनाए रखा। जिसे आजाद कराने के लिए अनेकों क्रांतिकारी सर्वस्व न्यौछावर कर हंसते हंसते फांसी के फंदे पर झूल गए। ऐसे प्रतीकों का सार्वजनिक स्थल पर महिमामंडन कर आजादी के क्रांतिकारियों के त्याग और बलिदान को व्यर्थ साबित करता है। निश्चित रूप से इन प्रतीकों का सार्वजानिक प्रदर्शन एव स्वतंत्र, स्वाधीन राष्ट के लिए अपमान व शर्म का विषय है। उन्हेांने कहा कि यह भी बेहद उच्चस्तरीय जांच का विषय है  की इस भीडभाड वाले महत्वपूर्ण स्थल पर किस खास प्रयोजन से ऐसा निर्माण संपन्न कराया जा रहा है। उन्होंने इस पूरे मामले की जांच की मांग की है। 

​स्वच्छ रहोगे तभी तो स्वस्थ रहोगे

ग्रामीणों को बताए स्वच्छता के लाभ
प्रधान ने चलाया स्वच्छता अभियान

तौलिया के साथ मुफ्त में दिया हाँथ धुलने को साबुन
ऋषी न्यूज संवाद उरई।

गांव के लोग स्वस्थ रहे इसकी चिंता काबिलपुरा ग्राम पंचायत के युवा प्रधान को है। यही वजह है कि गांव में स्वच्छता अभियान चलाकर जागरूकता लाने का प्रयास कर रहे है। मंगलवार को सचिव के साथ मिलकर हाँथ धोने के साबुन के साथ तौलिया का वितरण किया। 

ग्राम पंचायत काबिलपुरा के प्रधान स्वयं प्रकाश ने सचिव महेंद्र वर्मा, एएनएम शंकुन्तला देवी के साथ स्वच्छता अभियान चलाया। ग्राम प्रधान ने कहा कि व्यक्ति के लिए सबसे अधिक जरुरी निरोगी काया होती है। आज आधुनिकता की अंधी दौड़ में स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता जरुरी है। भोजन करने से पहले हांथों को साबुन से साफ करे। घर के आसपास गंदगी न फैलाये। व्यक्ति के आय का एक बड़ा हिस्सा इलाज में हर वर्ष खर्च हो जाता है। इसे हम सब स्वच्छता रख कर रोक सकते है।इसलिए सभी लोग मिलकर स्वच्छता मिशन के हिस्सेदार बने। उन्होंने पीएम की इस पहल को ऐतिहासिक भी बताया। उन्होंने गांव के लोंगो को तौलिया और साबुन देकर इस्तेमाल जरूर करने का आग्रह किया। प्रधान को ग्रामीणों ने आश्वस्त किया कि वह गांव को स्वच्छ रखने में भी अपना योगदान करेंगे। इस मौके पर रमेश वर्मा, लल्लू, महेंद्र धुराम, रामलाल यादव,संतू, संतोष आदि ग्रामीण स्वच्छता अभियान में साथ रहे।