​स्वच्छ रहोगे तभी तो स्वस्थ रहोगे

ग्रामीणों को बताए स्वच्छता के लाभ
प्रधान ने चलाया स्वच्छता अभियान

तौलिया के साथ मुफ्त में दिया हाँथ धुलने को साबुन
ऋषी न्यूज संवाद उरई।

गांव के लोग स्वस्थ रहे इसकी चिंता काबिलपुरा ग्राम पंचायत के युवा प्रधान को है। यही वजह है कि गांव में स्वच्छता अभियान चलाकर जागरूकता लाने का प्रयास कर रहे है। मंगलवार को सचिव के साथ मिलकर हाँथ धोने के साबुन के साथ तौलिया का वितरण किया। 

ग्राम पंचायत काबिलपुरा के प्रधान स्वयं प्रकाश ने सचिव महेंद्र वर्मा, एएनएम शंकुन्तला देवी के साथ स्वच्छता अभियान चलाया। ग्राम प्रधान ने कहा कि व्यक्ति के लिए सबसे अधिक जरुरी निरोगी काया होती है। आज आधुनिकता की अंधी दौड़ में स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता जरुरी है। भोजन करने से पहले हांथों को साबुन से साफ करे। घर के आसपास गंदगी न फैलाये। व्यक्ति के आय का एक बड़ा हिस्सा इलाज में हर वर्ष खर्च हो जाता है। इसे हम सब स्वच्छता रख कर रोक सकते है।इसलिए सभी लोग मिलकर स्वच्छता मिशन के हिस्सेदार बने। उन्होंने पीएम की इस पहल को ऐतिहासिक भी बताया। उन्होंने गांव के लोंगो को तौलिया और साबुन देकर इस्तेमाल जरूर करने का आग्रह किया। प्रधान को ग्रामीणों ने आश्वस्त किया कि वह गांव को स्वच्छ रखने में भी अपना योगदान करेंगे। इस मौके पर रमेश वर्मा, लल्लू, महेंद्र धुराम, रामलाल यादव,संतू, संतोष आदि ग्रामीण स्वच्छता अभियान में साथ रहे।

Advertisements

दबंगों की देखो दबंगई

कहीं जमीन का मामला तो कहीं हैण्डपम्प पर कब्ज़ा
आपस में भिड़े राशन विक्रेता और उपभोक्ता
पढ़े मनोज शर्मा के ऋषी न्यूज पोर्टल पर जालौन क्षेत्र की प्रमुख खबरें
हेमंत चौरसिया / अनुराग श्रीवास्तव की कलम से 

दबंगई : जमीन खरीद ली अब रूपये नहीं दे रहे
एसडीएम के दरबार में पहुंचा मामला

जालौन। दंबगो द्वारा खरीदी गयी जमीन की पूरी धनराशि न दिये जाने तथा जबरन ज्यादा जमीन पर कब्जा किये जाने की शिकायत पीडित ने कोतबाली मे की। बालम भटट निबासी भगबान दास तिबारी ने कोतबाली मे तहरीर देते हुये बताया। कि उसे अपने रियाहसी मकान का कुछ हिस्सा मजबूरी बस बेचना पडा। जिसकी सौदा रामशंकर से तय हो गयी। रामशंकर तथा उनके दो पुत्र अंकुर, अनुज ने मिल कर हमसे बैनामा तो करा लिया और कुछ रूपये बाद मे दे देगे हम उनके बातो मे आगये लेकिन उक्त तीनो आज तक शेष पडी धनराशि नही दी।इतना ही नही जो जगह खरीदी थी उससे भी ज्यादा जगह पर जबरन कब्जा कर लिया। पुलिस तहरीर लेकर जॉच शुरू कर दी।

&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&&
सरकारी हैंडपंपों पर कब्जा 
जालौन। देवनगर चौराहे पर लगे सरकारी हैंड पंपो पर दुकानदारो ने कब्जा कर लिया है। राहगीर पानी की बूंद बूंद को तरस रहे हैं। जिसके चलते यात्री प्रदूषित पानी पीने को मजबूर। स्थानीय प्रशासन जान बूझ कर अनजान बना।
      जहॉ एक और भीषण गर्मी के चलते लोग पानी के लिये मुहताज है। तो वही यात्रा कर रहे यात्रियो को अपना गला तर करने के लिये सरकारी हैंडपंपो के पास पानी के लिये इधर उधर भटकना पड रहा हैं।तो बही हैंडपंपो के आस पास ढिलिया लगा कर दुकानदार उन पर अपना कब्जा जमाये हुये। बाहर से आये यात्रियो को हैंडपंप दिखाई नही देता जिसके चलते वे लोग वहीं दुकान दारो को पन्नी मे भरा प्रदूषित पानी बेच कर अपनी जेबे भर लेते े  है।जो लोग स्थनीय है बे लोग हैंडपंप तक पहुच तो जाते है। लेकिन बहॉ पडी गंदगी को देख कर वह भी प्रदूषित पानी पीने को मजबूर हो जाते है। तो वही स्थानीय प्रशासन जान बूझ कर अंजान बना हुया है।
&&&&&&&&&&&&&&&&&&
 केरोसिन को लेकर कोटेदार व राशनकार्ड धारकों में झडप 
जालौन । मिटटी के तेल को लेकर कार्ड धारको तथा कोटे दार के बीच हुयी झडप, मामला कोतवाली तक पहुचा।
     कोतवाली के ग्राम पमा निवासी प्रधान कृष्ण पाल,नेपाल,बीर बहादुर आदि कार्ड धारको ने कोतबाली मे तहरीर देते हुये बताया कि गांब की महिला कोटेदार द्वारा हम लोगो को मिटटी का तेल नही दिया जाता है। इतना ही नही गाली देकर भगा दिया जाता है।तो बही कोटेदार माधुरी देबी ने बताया कि उक्त लोग जबरन एक ड्रम मिटटी के तेल की मांग करते है। असमर्थता जताने पर गाली देने लगे तथा वितरण रजिस्टर फाड कर 3360 रूपये छीन लिये। पुलिस ने दोनो की तहरीर लेकर   जाँच शुरू कर दी।              

0श्रमजीवी प्रेस क्लब ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन 
0धमकी देने वाले उरई सीओ को हटाने की मांग, आंदोलन की चेतावनी 

ऋषी न्यूज संवाद उरई। 

जिले के वरिष्ठ पत्रकार व एक न्यूज बेव पोर्टल के प्रधान संपादक केपी सिंह को फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी के मामले में सोमवार को पत्रकारों का आक्रोश फूट पडा और उन्होंने सीओ के ंखिलाफ जिलाधिकारी को एक शिकायती पत्र सौंपा। जिसमें उन्होंने कहा कि सीओ द्वारा दी गई धमकी लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर चोट है और मीडिया की आवाज को दबाने का प्रयास सीओ द्वारा किया जा रहा है।  इसलिए उरई सीओ को तत्काल पद से हटाया जाए। 
गौरतलब है कि कुछ दिनों पूर्व ही जिले के पुलिस अधीक्षक ने महकमे में बडा फेरबदल किया था। इस फेरबदल में उरई कोतवाल संजय कुमार गुप्ता को भी उरई कोतवाली से हटाकर कालपी कोतवाली भेज दिया गया था। बताते चलें कि उरई में तैनाती के दौरान कोतवाल संजय गुप्ता ने भ्रष्टाचार के नए आयाम स्थापित किए थे और भ्रष्टाचार के मामले में अब तक यहां पर तैनात रहे सभी इंस्पेक्टरों को पीछे छोड दिया था। यहां तक उन्होंने पान-गुटखा वाले दुकानदारों तक से रंगदारी मांगनी शुरू कर दी थी। उनके स्थानांतरण के बाद जिले की एक प्रमुख बेव न्यूज पोर्टल पर खबर वायरल हुई। जिसमें कोतवाल संजय गुप्ता के खिलाफ लिखी कुछ लाइनों को लेकर उरई सीओ अरुण कुमार सिंह भडक उठे और उन्हेांने बेव न्यूज पोर्टल के प्रधान संपादक व जिले के वरिष्ठ पत्रकार केपी सिंह को फर्जी मुकदमे में फंसाने के साथ ही जेल तक भेजने की धमकी दे डाली। इस मामले की शिकायत वरिष्ठ पत्रकार द्वारा मुख्यमंत्री से भी की जा चुकी है, जिसमें आईजी जोन ने पुलिस अधीक्षक को पूरे मामले की जांच करने को कहा है। सोमवार को श्रमजीवी प्रेस क्लब के अध्यक्ष सुरेश खरकया के नेतृत्व मंे करीब दो दर्जन पत्रकारों ने जिलाधिकारी नरेंद्र शंकर पांडेय को एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने सीओ द्वारा किए गए कृत्य पर भारी नाराजगी जताई गई और ऐसे सीओ को तत्काल हटाए जाने की मांग की। पत्रकारों ने कहा कि अगर सीओ को न हटाया गया तो वह आंदोलन करेंगे सडकों पर उतरेंगे। जिलाधिकारी ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है। इस दौरान पत्रकार गोविंद दाउ, इरफान पठान, प्रदीप कुमार, देवेंद्र ंिसह जादौन, प्रमोद पाल, विशाल वर्मा, सत्येंद्र सिंह राजावत, अवधेश ंिसह बब्लू, अनुज कौशिक, राकेश कुमार बाथम आदि मौजूद रहे। 

​योगी के फैसले से अखिलेश को झटका

नगर निकाय चुनाव टला

नए सिरे से वार्डों का परिसीमन, आरक्षण रोस्टर और मतदाता सूची पुनरीक्षण कराने का आदेश

ऋषी न्यूज मुख्य संवाद।
योगी आदित्यनाथ को स्थानीय निकायों के लिए अखिलेश सरकार की तैयारियों में खोट नजर आई है। ऐसे में मुख्यमंत्री ने नए सिरे से वार्डों का परिसीमन, आरक्षण रोस्टर और मतदाता सूची पुनरीक्षण कराने का आदेश दिया है। सरकार ने यह साफ नहीं किया है कि इस काम में कितना वक्त लगेगा और निकाय चुनाव किस महीने में कराए जाएंगे। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक वार्डों के परिसीमन और मतदाता सूची दुरुस्त करने के काम में कम से कम दो महीना लगना तय है। ऐसे में अगले निकाय चुनाव जुलाई के बाद यानी अगस्त में संभव हैं। 

गौरतलब है कि मई माह में स्थानीय निकायों का कार्यकाल खत्म हो रहा है। बीते दिवस कानपुर में कानून-व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ ने निकाय चुनाव फिलहाल नहीं कराने की बात कही। योगी के मुताबिक पिछली सरकार ने अपनी मनमर्जी से वार्डों का परिसीमन किया था, इसके अलावा स्थानीय सपा नेताओं के इशारे पर मतदाता सूची में नाम जोड़े-घटाए गए हैं। योगी ने जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद में स्पष्ट कहाकि इस मतदाता सूची से चुनाव कराना उचित नहीं होगा, ऐसे में नए सिरे से चुनाव तैयारियों को सरकार दुरुस्त करने के बाद ही निकाय चुनावों की घोषणा करेगी। योगी ने कहाकि नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पूरे प्रदेश से लाखों शिकायतें मिली हैं कि अमुक-अमुक इलाकों में फलां-फलां पार्टियों के समर्थकों के नाम बड़े पैमाने पर हटाए गए हैं। 
From : Patrika news

हवा हवाई साबित हुआ पानी के इंतजाम का वादा

सीएम योगी का फरमान बेअसर
सफेद हाथी बनी भदवां गांव की पानी टंकी 
भीषण गर्मी में भी लोगों को पानी के लाले
नहीं मिल पा रहा पानी टंकी का लाभ 
 लोगों को भटकना पड रहा दर-दर 
ऋषी न्यूज संवाद जालौन। जालौन क्षेत्र के ग्राम भदवां मे बनी पानी की टंकी सफेद हाथी के समान खडी है। पिछले दस बर्षो से उक्त टंकी का कोई ग्रामीण लाभ नही ले पा रहे हैं। गांव सहित आसपास के ग्रामीण पानी की बूंद बूंद के लिये मोहताज हैं। ऐसे में सीएम का बेहतर पानी के इंतजाम का वादा कोरा साबित हो रहा। 
         भदवॉ मे बनी पानी की टंकी का आस पास के गांव सहित गांव के ग्रामीण कोई लाभ नही उठा पा रहे। भीषण गर्मी के चलते निजी हैंडपंपों तथा बोरिगो ने जबाब दे दिया है। जिसके चलते ग्रामीण पानी की बूंद बूंद के लिये मोहताज हैं । तो वही पानी का एक मात्र सहारा सरकारी हैंडपंप तथा पानी की टंकी बचा हुआ है। इस टंकी से भदवा, जीपुरा, नबीपुरा आदि आधा दर्जन गांव के ग्रामीणो को पानी की सप्लाई की जाती है। सरकार द्वारा लाखो रूपये खर्च किये जाते है। लेकिन उसका लाभ जनता को नही मिल पाता है। ग्रामीण अरबिंद, नीरज, निहाल आदि ने बताया कि उक्त पानी की टंकी बर्ष 2000 मे जल निगम द्वारा बनाई गयी थी। इसकी लाइने आस पास के गांव मे डाली गयी थी। लेकिन इसकी सुबिधा ग्रामीण ज्यादा दिनो तक नही ले सके। सूचना प्रशासन को दी गयी। लेकिन पिछले 10 बर्षो से पानी की सप्लाई शुरू नही हो सकी।  अब यों कहें कि अधिकारियों को सीएम के आदेशों की कोई परवाह नहीं है । यही वजह है पेयजल व्यवस्था का कई इलाकों में बुरा हाल है।

​दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुरालियों ने नवविवाहिता को निकाला 

0पीडित नवविवाहिता ने कोतवाली पुलिस को दी तहरीर 
0पीडिता की तहरीर पर पुलिस ने  आरोपी ससुरालियों के खिलाफ दर्ज की दहेज  उत्पीडन की रिपोर्ट 
ऋषी न्यूज संवाद जालौन। दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुरालियों ने नवविवाहिता का उत्पीडन शुरू कर दिया और उसे आए दिन प्रताडित करने आए। जब इससे भी दहेज लोभियों का मन नही भरा तो वह नवविवाहिता को उसके मायके छोड आए। अब पीडिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी ससुरालीजनो ंके खिलाफ दहेज उत्पीडन की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।  
    कोतबाली क्षेत्र के बीर पुरा निबासी सुमन देबी पुत्री लाल जी ने कोताबाली मे तहरीर देते हुये बताया कि उसकी शादी वर्ष 2015 मे गढगुवा निबासी रमेशचंद्र के पुत्र सौरभ के साथ हुयी थी। शादी मे पिता ने अपने सामर्थ के अनुसार दहेज 8 लाख दिया शादी के बाद ससुराल जाने पर सास बिनीता, ससुर रमेश, देबर अभिषेक, ननद पूजा तथा पति सौरभ द्वारा इण्डिका कार की मांग की गयी। मैने कहा कि मेरे पिता की इतनी सार्मथ नही है। कि वह कार दे सके। इससे नाराज ससुराली जन मार पीट कर उसका उत्पीडन करने लगे। शनिबार की शाम उक्त पाचो ने मार पीट कर जबरन बीर पुरा गांव के बाहर छोड दिया।पुलिस ने मामले की तहरीर लेकर उक्त लोगो के खिलाफ मुकदमा पंजी क्रत कर लिया है।

रोजगार मेले में 468 छात्र-छात्राओं को मिला रोजगार

 

0 शहर के रामनगर स्थित वंडर प्ले पब्लिक स्कूल में आयोजित किया गया रोजगार मेला 
0छात्र-छात्राओं को पढाया गया अनुशासन व शिक्षित होने का पाठ 

ऋषी न्यूज संवाद उरई। शहर के मोहल्ला रामनगर में स्थित वंडर प्ले पब्लिक स्कूल में रविवार को रोजगार मेले का आयोजन किया गया। जिसमें करीब सात सैकडा छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इस दौरान तकरीबन चार सैकडा छात्र-छात्राओं को नौकरी के लिए चयनित किया गया। नौकरी पाकर छात्र-छात्राओं के चेहरे खुशी से चहक उठे। इस दौरान उन्होंने हर्ष जताया। इस मौके पर छात्र-छात्राओं को अनुशासन व शिक्षा का पाठ पढाया गया। 
रविवार को वंडर प्ले पब्लिक स्कूल रामनगर में इन्फोपार्क द्वारा रोजगार मेला का आयोजन कराया गया। जिसमें 680 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। इस मेले में कई मल्टीनेशनल कंपनियों के एचआर व उनकी टीम उपस्थित रहीं जिन्होंने छात्र-छात्राओ के इंटरव्यू लिए। मेले में सर्वाधिक चयन लॉयन्स वर्कफोर्स सॉल्यूशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा लिए गए। उक्त कंपनी ने कुल 213 छात्र-छात्राओं का चयन किया। वहीं 102 छात्र ईजी नौकरी के द्वारा चयनित किए गए। चयनित हुए छात्रों में बीसीए, पीजीडीसीए, ओ लेवल के साथ कौशल विकास टेनिंग के छात्र रहे। विगत सप्ताह में भी संस्थान के 45 छात्र रोजगार के लिए चयनित हुए थे। विगत वर्षों में इन्फोपार्क ने जिले में श्रेष्ठ व अनुशासित कम्प्यूटर शिक्षा देने वाला संस्थान रहा है। इसके लिए इन्फोपार्क को जिले का सर्वश्रेष्ठ संस्थान का पुरूस्कार भी मिला है। हर वर्ष बीसीए छात्रों के बीटीसी में सर्वाधिक चयन इन्फोपार्क से ही रहे। जिससे सरकारी संस्थान व प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत छात्र संस्थान के हैं। इस मौके पर इन्फोपार्क के डायरेक्टर अभय द्विवेदी ने कहा कि संस्थान का उददेश्य ही बच्चों को सर्वश्रेष्ठ व अनुशासित तथा संस्कारित शिक्षा देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। मेले में भाग लेने वाले सभी छात्र छात्राओं मे ंसे कुल 468 छात्र-छात्राएं चयनित हुए। इन्फोपार्क डायरेक्टर अभय द्विवेदी ने बताया कि संस्थान के छात्र हर क्षेत्र में अपनी सफलता के झंडे गाढ चुके हैं। बैंक, सीमा सुरक्षा बल, पुलिस, नेवी, अस्पताल, पोस्ट ऑफिस, कलेक्टेट से लेकर एयरपोर्ट आदि स्थानों पर छात्र कार्यरत हैं। उन्होंने चयनित हुए छज्ञत्रों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें बधाई दी। इस मौके पर अमित, रविंद्र, उमंग, आश्नपा, करमजीत, प्रकाश, विनीत, महेंद्र सेन्टर हेड हयात फातिमा आदि उपस्थित रहे।