​सहाव गैंगरेप के तीन और दरिंदे गिरफ्तार 

आरोपियों के कब्जे से बरामद की गई घटना में प्रयुक्त लोडर
पीड़ित महिला का पर्स, जेवरात, कपडे व नकदी भी बरामद 

घटना के खुलासा में स्वाट टीम की रही महत्वपूर्ण भूमिका 
ऋषी न्यूज के लिए 

रिपोर्ट : हेमन्त चौरसिया
ऋषी न्यूज संवाद उरई। जालौन के चर्चित सहाव गैंगरेप व लूट के मामले में आखिरकार स्वाट टीम व कोतवाली पुलिस को सफलता हाथ लग ही गई। इस मामले में फरार चल रहे तीन और आरोपियों को स्वाट टीम ने पडेासी जनपद मध्य प्रदेश से गिरफ्तार  कर लिया। आरोपियो के कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई बुलेरो मैक्स गाडी, पीडित महिला का पर्स, जेवरात, कपडे व नकदी आदि बरामद की गई है। इन आरोपियों ने कई राज्यों व शहरों में भी बडी-बडी वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल की है। पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। 
गौरतलब है कि बीती चार मई को जयपुर से आ रहे दम्पत्ति को बुलेरो सवार बदमाशों ने अपने साथ बैठा लिया था और सहाव नाका के पास गाडी रोककर पति को बंधक बना लिया था और महिला को झाडियों में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया था। छह बदमाशों ने बारी-बारी से महिला को अपनी हवश का शिकार बनाया और फिर बाद में महिला से नकदी, जेवरात आदि लूट ले गए थे। इस दिल दहला देने वाली वारदात के बाद जिले का पुलिस महकमा हरकत में आ गया था। दस दिनों की कडी मशक्कत के बाद पुलिस ने इस मामले में 13 मई को तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफतार कर जेल भेज दिया था। बाकी तीन आरोपियों की पुलिस लगातार तलाश कर रही थी। यह फरार आरोपी पुलस से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदलने में लगे थे। पर स्वाट टीम व कोतवाली पुलिस की कठिन मेहनत के चलते फरार चल रहे आरेापी भूरा पुत्र जलालुददीन निवासी गोहद जिला भिंड, रफीक उर्फ बांगडू उपर्फ टैनी पुत्र मजीद उर्फ अजीज निवासी ततारपुर कानपुर देहात, अली मुहम्मद उर्फ मास्टर पुत्र माशूक अजी निवासी ग्राम सैनपुर औरेया को मध्य प्रदेश्ज्ञ के भिंड जनपद के चरथर तिराहे से गिरफतार कर लिया। इनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई बुलेरो मैक्स गाडी, पीडित महिला का पर्स, 4900 रुपए, जेवरात, कपडे आदि बरामद किए गए हैं। बुधवार को पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने पुलिस लाइन में इसका खुलासा किया। उन्होंने बताया कि गिरफतार किए गए यह तीनों आरोपी शातिर किस्म के अन्तर्राज्यीय बदमाश हैं। इन्होंने राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के साथ औरेया, कानपुर नगर, कानपुर देहात, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, इटावा, जालौन आदि जिलों में बडी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। गिरोह द्वारा की गई अन्य घटनाओं के बारे में अभी भी पूछताछ की जा रही है। बदमाशों को गिरफतार करने वाली टीम में स्वाट टीम प्रभारी अरुण कुमार तिवारी, जालौन कोतवाल महाराज सिंह तोमर, सर्विलांस प्रभारी ब्रजेश यादव, मनोज गुप्ता, सतेंद्र ंिसह, मनोज कुमार, रवि भदौरिया, नीतू कुमार, अमित कुमार, करनवीर सिंह, हरगोविंद, संजय आदि शामिल रहे।