इमारत तैयार फिर भी भटक रहे नेत्रहीन छात्र

माननीय अंध विद्यालय को नए भवन में कब स्थानांतरित किया जायेगा।
सदर विधायक को सौपा ज्ञापन
ऋषी न्यूज संवाद उरई । 

नगर के मोहल्ला शांति नगर में संचालित अंध विद्यालय के नेत्रहीन दिव्यांग प्रधानाचार्य और नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों ने युवा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर के नेतृत्व में सदर विधायक गौरी शंकर वर्मा को एक ज्ञापन सौंपा । इसमें उन्होंने अपनी समस्याओं से सदर विधायक को अवगत कराते हुए विद्यालय और आवासीय व्यवस्था नए भवन में स्थानांतरित किये जाने की मांग की. 

आपको अवगत कराते चलें कि शांति नगर में शिव अखंड ज्योति समिति द्वारा संचालित अंध विद्यालय का भवन जर्जर स्थिति में है. इस भवन में नेत्रहीन दिव्यांग छात्रों के लिए प्राथमिक विद्यालय तथा आवासीय सुविधा संचालित है. भवन की जर्जर स्थिति को देखते हुए इसी भवन के ठीक बगल में एक नए भवन का निर्माण समिति प्रबंधक द्वारा करवाया गया है. बताया जाता है कि इस नए भवन के निर्माण के लिए प्रबंधक द्वारा सांसद निधि एवं विधायक निधि से धन आवंटित कराया गया था. अब जबकि नया भवन बनकर तैयार हो चुका है तब प्रबंधक उसमें नेत्रहीन बच्चों को स्थान्तरित करने में आनाकानी कर रहा है. प्रधानाचार्य और बच्चों का कहना है कि प्रबंधक की मंशा उनको बाहर निकालने की है, जिससे वो नये सिरे से अपनी मनमानी कर सके. प्रबंधक पर इनके द्वारा ये भी आरोप लगाया गया कि वह अंध विद्यालय के नाम पर लोगों से आर्थिक मदद लेकर उसे हजम कर गया. 

नेत्रहीन दिव्यांग प्रधानाचार्य और नेत्रहीन बच्चों ने यह भी बताया कि यह पुराना भवन प्रबंधक द्वारा किसी अन्य व्यक्ति को बेच दिया गया है. वह व्यक्ति समय-समय पर अराजक तत्त्वों के साथ आकर डराता-धमकाता है. प्रधानाचार्य और बच्चों ने विधायक को बताया कि वे कई बार जिलाधिकारियों से मिलकर अपनी समस्या को बता चुके हैं किन्तु किसी भी रूप में उनको नए भवन में स्थानांतरित किये जाने की प्रक्रिया नहीं चलाई गई. विधायक गौरी शंकर वर्मा ने बहुत जल्दी ही नेत्रहीन बच्चों की समस्या का निस्तारण किये जाने का भरोसा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर, प्रधानाचार्य और बच्चों को दिया. इसके साथ ही आश्वसन दिया कि सभी पक्षों पर विचार करके उनके विद्यालय और आवास को नए भवन में स्थानांतरित करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इस अवसर पर डॉ. कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने भी दिव्यांग शक्ति की तरफ से एक ज्ञापन सदर विधायक को सौंपा।